फास्टैग (Fastag) क्या होता है ? कैसे उपयोग करे ?

फ्रेंड्स अगर आपके पास कार या अन्य कोई वाहन है तो आपको फास्टेग (Fastag) क्या है ? यह कैसे काम करता है ? Fastag के क्या क्या फायदे है ? और फास्टैग को कैसे और कँहा से मंगवा सकते है ? इन सभी सवालों के जवाब मालूम होने चाहिए।

अगर आपको फास्टैग के बारे में ज्यादा जानकारी नही है तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नही है। क्योंकि इस लेख में हम आपको fastag के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में बताने वाले है।

फास्टैग (Fastag) क्या होता है ? कैसे उपयोग करे ?

फास्टैग (Fastag) क्या है ?

टोल प्लाजा पर होने वाली परेशानियों को दूर करने के लिए नेशनल हाइवे ओथोरिटी ऑफ़ इंडिया ने फास्टैग सिस्टम शुरू किया है । फास्टैग सिस्टम को भारत में सबसे पहले 2014 में शुरू किया गया था। उस समय यह सिर्फ कुछ टोल प्लाजाओं पर उपलब्ध था। किंतु अभी इसको भारत के लगभग सभी टोल प्लाज़ाओं पर शुरू कर दिया गया है।

Fastag एक reloadable टैग होता है, जिसमे एक विशिष्ट unique कोड होता है। सभी वाहनों के लिए यह कोड अलग अलग होता है। जब आप अपने वाहन का fastag में रजिस्ट्रेशन करेंगे तो आपको यह फास्टैग दिया जाएगा, जिसे आपको अपने वाहन के सामने वाले शीशे पर लगाना होगा। टोल प्लाजा पर सेंसर द्वारा इस टैग द्वारा ही आपके वाहन की पहचान की जाएगी और आपके टोल टैक्स के पैसे फास्टैग एकाउंट से काटे जाएंगे। एक फास्टैग की वैधता 5 वर्ष की होती है। यानि की 5 वर्ष के बाद फिर से नया फास्टेग बनवाना पड़ता है।


फास्टैग Fastag काम कैसे करता है ?

फ़ास्टेग वाहन के सामने वाले शीशे पर लगाया जाता है। जिसमे रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन Radio Frequency Identification (RFID) लगा होता है। जैसे ही आपका वाहन टोल प्लाजा के पास जाएगा तो टोल प्लाजा पर लगा सेंसर आपके वाहन में लगे फ़ास्टेग को स्कैन करेगा और टोल प्लाजा पर लगने वाला शुल्क आपके फ़ास्टेग अकाउंट से काट लिया जायगा। Fastag से शुल्क कटने की सूचना आपको आपके मोबाइल नंबर पर SMS द्वारा दे दी जाएगी।

जब आपके फ़ास्टेग अकाउंट से पूरा बैलेंस ख़त्म हो जाए तो आपको फिर से अकाउंट में रिचार्ज करवाना पड़ेगा, ठीक वैसे ही जैसे हम मोबाइल रिचार्ज करवाते है। Fastag Recharge आप खुद भी Paytm या Google Pay से कर सकते है।


फास्टैग Fastag के क्या क्या फायदे है ?

1.समय की बचत

Fastag से सभी वाहन चालकों को बहुत सारे फायदे होने वाले है। जिसमे से सबसे प्रमुख समय की बचत होना है। जैसा कि आप जानते है कि टोल प्लाज़ाओं पर टोल टैक्स देने की प्रक्रिया में काफी समय लगता है जिससे टूल प्लाज़ाओं पर वाहनों की लंबी कतारें लगी रहती है।

लेकिन fastag के आने के बाद यह समस्या हल हो जाएगी। क्योंकि अगर आपके वाहन पर फास्टैग लगा हुआ है तो सेंसर द्वारा सिर्फ 1 सेकंड में आपके वाहन की पहचान कर ली जाएगी और आपके एकाउंट से पैसे काट लिए जाएंगे। उसके बाद आप टोल क्रॉस कर सकते है।

2. छूटे पैसे की समस्या का हल

टोल टैक्स देते समय छूटे पैसे ना होना भी एक आम समस्या है। इसके कारण कई बार झगड़ा भी हो जाता है। लेकिन फास्टैग से यह प्रॉब्लम सॉल्व हो जाएगी। क्योंकि जितना आपका रोड टैक्स होगा, सिस्टम द्वारा सिर्फ उतना ही पैसा आपके फास्टैग एकाउंट से काटा जाएगा।

3. कैशलेस प्रणाली को बढ़ावा 

अभी कुछ टाइम पहले ही नोटबन्दी हुई थी, जिसके बाद से हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कैशलेस प्रणाली को अपनाने की अपील की थी, ताकि फिजिकल करंसी का कम से कम उपयोग हो।

Fastag कैशलेस प्रणाली को भली भांति पूरा करता है। फास्टैग का उपयोग करने पर आपको टोल प्लाजा पर फिजिकल करंसी देने की जरूरत नही पड़ेगी, पैसे आपके एकाउंट से ऑटोमैटिक ही कट जाएंगे।


फास्टैग कहाँ से ले सकते है ?

आप किसी भी सरकारी बैंक से फास्टेग खरीद सकते है। इसके अलावा आप ऑनलाइन आवेदन करके भी फास्टेग मंगवा सकते है। इसके लिए आपको फास्टेग की आधिकारिक वेबसाईट पर जाना है और सभी डिटेल एकदम सही से भरकर आवेदन करना है। आप Paytm Wallet से भी ऑनलाइन फास्टैग मंगवा सकते है।

Paytm से Fastag ऑनलाइन कैसे मंगाते है ? इसके बारे में हम आपको अगले लेख में बताएंगे। इसके अलावा अगर आपका अन्य कोई सवाल हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है।

ये भी पढ़े...

अंतिम शब्द

दोस्तों इस लेख में आपने जाना की फास्टैग क्या होता है ? What is Fastag ? फास्टैग कैसे काम करता है ? हम इसका उपयोग कैसे कर सकते हैं ? और हम अपने वाहन के लिए Fastag कैसे मंगवा सकते हैं ? अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें।

Post a comment

0 Comments