Prepaid और Postpaid में क्या अंतर है ?

What is the deference between prepaid and postpaid in hindi:- दोस्तों हम सभी के मोबाइल फोन्स में सिम कार्ड तो होती ही है, लेकिन क्या आप जानते है की आपके मोबाइल में जो सिम कार्ड है वो किस टाइप की है ? यानी कि प्रीपेड है ? या पोस्टपेड है ? अगर आप नही जानते है की आपके मोबाइल मे कौनसी सिम कार्ड है ? तब भी आपने प्रीपेड और पोस्टपेड इन दोनों शब्दों को बहुत बार सुना होगा। 

खासतौर से उस समय जब हम अपने नंबर के लिए रिचार्ज प्लान्स देख रहे होते है, या जब हम खुद अपने मोबाइल से रिचार्ज कर रहे होते है, तब हमसे पूछा जाता है कि आपका सिम कार्ड prepaid है या postpaid ? 

बहुत से लोगों को यह पता नही होता है कि वो कौनसी सिम कार्ड यूज़ करते है ? और कुछ तो यह भी नही जानते है कि Prepaid सिमकार्ड क्या होती है ? Postpaid सिम कार्ड क्या होती है ? प्रीपेड और पोस्टपेड में क्या अंतर होता है ? इसलिए इसी बात को ध्यान में रखते हुये आज के इस लेख में हम आपको इसी के बारे में विस्तार से बताने वाले है।

prepaid and postpaid difference in hindi, prepaid and postpaid meaning


Prepaid क्या होता है ? 

Prepaid शब्द को हम Pre और Paid दो भागों में बांट सकते है, Pre का मतलब पहले होता है और Paid का मतलब चुकाना या भुगतान करना' होता है। इस प्रकार से Prepaid का मतलब हिंदी में "पहले भुगतान करना" होता है। अगर इसको आसान शब्दो मे समझे तो Prepaid Sim Card में हमे पहले भुगतान करके उसमें रिचार्ज करवाना पड़ता है, रिचार्ज करवाने के बाद ही हम उस रिचार्ज प्लान के अनुसार Calls, Messages और Internet का इस्तेमाल कर सकते है। जैसे ही वो रिचार्ज खत्म हो जाता है, तो उसके बाद हम इनमे से किसी भी सेवा का लाभ नही उठा सकते है। सेवाओं को फिर से शुरू करने के लिए हमे फिर से रिचार्ज करवाना पड़ता है।

कुल मिलाकर हम यह बोल सकते है, प्रीपेड सिम कार्ड में हमे पहले पैसे देकर रिचार्ज करवाना पड़ता है, उसके बाद ही हम उस सिम कार्ड से कॉल, sms और बाकी सेवाओं का फायदा उठा सकते है।

लगभग सभी आम मोबाइल यूज़र्स के पास प्रीपेड सिम कार्ड ही होती है। इसलिए अगर आप भी एक आम यूजर है, तो यकीनन आपके मोबाइल में भी प्रीपेड सिम कार्ड है, इसलिए रिचार्ज करते समय या अन्य किसी भी स्थान पर अगर आपसे पूछा जाए कि आप कौनसी सिम कार्ड यूज़ करते है ? तो आप निश्चित होकर बोल सकते है कि आपके पास प्रीपेड सिम कार्ड है।


Postpaid क्या होता है ?

Postpaid शब्द भी Post और Paid दो अलग अलग शब्दों से मिलकर बना है। Post का मतलब होता है बाद में, और Paid का मतलब होता है भुगतान करना। इस प्रकार से Postpaid का मतलब हिंदी में "बाद में भुगतान करना" होता है। 

अगर इसको आसान शब्दो मे समझे तो पोस्टपेड का मतलब होता है कि पहले किसी सेवा का लाभ पहले उठाना और बाद में यानी कि महीने के आखिर में उसका भुगतान करना होता है।

अगर आप postpaid सिम कार्ड इस्तेमाल करते है, तो आपको प्रीपेड सिम कार्ड की तरह उसमे पहले रिचार्ज करवाने की जरूरत नही है। आपको सिर्फ monthly या yearly में से कोई एक प्लान सेलेक्ट करना पड़ता है, उसके बाद आप unlimated कॉल्स, मैसेज, और Internet का इस्तेमाल कर सकते है, महीने के अंत में इस्तेमाल की गई सभी सेवाओं का बिल तैयार होता है, जिसका भुगतान आपको अपने सेलेक्ट किये गए प्लान के अनुसार करना पड़ता है।

Postpaid सिम कार्ड के प्लान्स महेंगे होते है, और जितना बड़ा प्लान आप लेते है आपको प्लान उतना ही सस्ता पड़ता है। यह सिम कार्ड सिर्फ बड़े bussinessman और call centers द्वारा ही खरीदा जाता है, क्योंकि उन्हें ही ऐसे बड़े प्लान की जरूरत पड़ती है। हालांकि आम यूज़र्स भी यह सिम ले सकते है, पर क्योंकि इसके प्लान्स महेंगे होते है, इसलिए आम यूज़र्स को यह सिम महँगी पड़ती है।

तो अभी आप समझ गए होंगे कि prepaid kya hota hai ? और postpaid kya hota hai ? साथ ही आपको इनके बीच का अंतर भी समझ आ गया होगा। लेकिन फिर भी कुछ ऐसे और भी पॉइंट्स है जिनके बारे में हमने ऊपर चर्चा नही की। इसलिए चलिए अभी हम जानते है कि इन दोनों के बीच मे क्या अंतर है ?


Prepaid और Postpaid में क्या अंतर है ?

  1. प्रीपेड और पोस्टपेड सिम कार्ड देखने मे बिल्कुल एक जैसी ही होती है, इनके physical structure मे कोई अंतर नही होता है।
  2. प्रीपेड सिम आम यूज़र्स के लिए काफी फायदेमंद होती है, इसमे वो अपनी आवश्यकतानुसार रिचार्ज करवा सकते है, और टेलीकॉम सेवाओं का फायदा उठा सकते है। जबकि पोस्टपेड सिम यूज़र्स के प्लान्स बड़े होते है, महीने के अंत मे यूजर का पूरा बिल तैयार होता है, और उसी के हिसाब से उसे पेमेंट करना पड़ता है।
  3. प्रीपेड सिम में रिचार्ज खत्म होने पर हम 5 से 10 रूपए का लोन ले सकते है, किन्तु पोस्टपेड में लोन लेने की जरूरत ही नही पडती है, क्यूंकि इससे हम जितनी चाहे उतनी सेवाओ का इस्तेमाल कर सकते है, बस महीने के अंत में हमे एक बार भुगतान करना पड़ता है।
  4. प्रीपेड सिम में आम आदमियों के लिए प्लान्स बहुत ही सस्ते होते है और बिजनेसमैन के लिए प्लान्स काफी महंगे होते है, जबकि पोस्टपेड में इसका उल्टा होता है, इसके प्लान business class लोगों के लिए काफी फायदेमंद और सस्ते होते है।
  5. Postpaid सिम कार्ड में हम सारी कॉल डिटेल देख सकते है, जैसे कि किस नंबर पर कितनी देर बात की गई है, किन्तु प्रीपेड सिम कार्ड में यह सेवा उपलब्ध नही होती है। हालांकि जिओ तथा एयरटेल अपने प्रीपेड यूज़र्स को भी यह सेवा उपलब्ध कराती है, इस टॉपिक पर हमने आर्टिकल लिखा है, आप अभी नीचे लिंक पर क्लिक करके वो लेख भी पढ़ सकते है।

तो दोस्तो आज के इस लेख में आपने सीखा की प्रीपेड और पोस्टपेड में अंतर क्या होता है ? उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसन्द आयी होगी। अगर लेख अच्छा लगा हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां